patwari kon hai

पटवारी क्या है और पटवारी कैसे बने ?

patwari का नाम हर किसी ने आवश्यक सुना होगा। पटवारी एक सरकारी राजस्व विभाग का आधिकारिक पद है। जिसे हिंदी में लेखपाल भी कहते हैं। पटवारी हर गांव में चयनित किया जाता है।

हर गांव या प्रत्येक पंचायत के आधार पर एक patwari को चुना जाता है। यह सरकारी पद है। सरकार द्वारा पटवारी पदों के लिए भर्ती निकाली जाती है और उस भर्ती में सफल होने वाले व्यक्तियों को पटवारी पद पर चयनित किया जाता है।

पटवारी भर्ती रिक्त स्थानों की पूर्ति के आधार पर लगभग साल में एक बार अवश्य निकलती है। कई बार 2 साल से भी कराई जाती है। patwari के लिए सिलेबस सरकार द्वारा निश्चित किया गया है।

इसके अलावा पटवारी के लिए आवेदन करने वाले आवेदन कर्ता की आयु सीमा भी सरकार की guideline में निश्चित है।

उसी वर्ग में आने वाले आवेदन करता इस भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं। आज हम इस आर्टिकल में पटवारी क्या है और patwari कैसे बने? इसके बारे में बात करेंगे।

पटवारी क्या होता है?

patwari को हिंदी में लेखपाल भी कहा जाता है। पटवारी एक सरकारी officer या अधिकारी होता है। जो देश के ग्रामीण क्षेत्रों के जमीन के मालिकों के बारे में संपूर्ण रिकॉर्ड रखता है। patwari भूमि रिकॉर्ड अधिकारी के रूप में भी पहचाना जाता है।

भूमि मापना ,भूमि का रिकॉर्ड रखना और भूमि संबंधित कई प्रकार के मुख्य कार्य पटवारी द्वारा संपन्न किए जाते हैं। एक पटवारी को एक निश्चित क्षेत्र दिया जाता है। उस क्षेत्र से संबंधित जुड़ी हर समस्या उस क्षेत्र के पटवारी द्वारा की जाती है।

इसके अलावा सरकार के आदेश अनुसार patwari को कई अन्य प्रकार के कार्य करने
पड़ते हैं। पटवारी को अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है।

उदाहरण के तौर पर बात की जाए, तो कहीं पर पटवारी को लेखपाल के नाम से जाना जाता है। तो कहीं पर ग्राम लेखाकार के नाम से जाना जाता है।

विद्यार्थियों के लिए 12वीं और graduation करने के बाद करने के बाद patwari पद के रूप में सरकारी नौकरी का एक महत्वपूर्ण और बेहतरीन अवसर होता है। गवर्नमेंट जॉब हर कोई व्यक्ति पाना चाहता है।

विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य के लिए पटवारी पद काफी महत्वपूर्ण है। विद्यार्थी इस भर्ती में अपने काफी रुचि दिखाते हैं। आज के समय भी पटवारी पद के लिए लाखों की संख्या में आवेदन किए जा रहे हैं।

patwari की भर्ती में आवेदन करने वाले आवेदन करता को अन्य भर्तियां जैसे :- पुलिस इत्यादि की तरह physical exam नहीं देनी पड़ती है और इसीलिए कई हद तक पटवारी की भर्ती विद्यार्थियों के लिए एक बढ़िया अवसर माना जाता है।

पटवारी कैसे बने?

अलग-अलग राज्यों द्वारा patwari के रिक्त पदों की पूर्ति करने के लिए नियमित रूप से पटवारी पदों के लिए भर्ती का आयोजन किया जाता है। राज्य सरकार पटवारी के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए विभाग द्वारा इस भर्ती का आयोजन करते हैं।

और नोटिफिकेशन भी जारी करते हैं। ताकि विद्यार्थियों को इस भर्ती के बारे में पता चल सके सरकार द्वारा निश्चित समयावधि के दौरान आप patwari पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उसके बाद होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। पटवारी पद के लिए आवेदन करने वाले आवेदन कर्ता के पास कई प्रकार की योग्यता (qualification) जरूरी है। जो नीचे निम्नलिखित रुप से दी गई है।

patwari बनने के लिए योग्यता

  1. 12वीं क्लास :- पटवारी बनने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार के पास 12वीं कक्षा उत्तीर्ण का सर्टिफिकेट होना जरूरी है।
  2. ग्रेजुएशन:- patwari बनने के लिए 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के साथ-साथ ग्रेजुएशन की पढ़ाई भी पूरी करना जरूरी है। क्योंकि पहले बारहवीं कक्षा के बाद सीधा पटवारी के लिए आवेदन करने की अनुमति मिलती थी।
    लेकिन अब विद्यार्थी graduation की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही पटवारी के लिए आवेदन कर सकता है।
  3. इसके साथ ही पटवारी के लिए सबसे महत्वपूर्ण Computer Diploma Course है। आवेदन कर्ता के पास Basic Computer Knowledge का certificate होना जरूरी है।
  4. patwari पद के लिए उम्मीदवार की उम्र 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में रखी गई है। इसके अलावा आरक्षित वर्ग में आने वाले विद्यार्थियों के लिए उम्र में नियम के अनुसार कुछ छूट दी गई है। साथ ही साथ अलग-अलग राज्यों में उम्र समयावधि अलग अलग हो सकती है।

पटवारी बनने के लिए एग्जाम पैटर्न

पटवारी बनने के लिए आपको सबसे पहले online website के माध्यम से अपना आवेदन फॉर्म लगाना होगा और उसके पश्चात आप लिखित परीक्षा मैं भाग ले सकते हैं। patwari के लिए लिखित परीक्षा और उसके पश्चात इंटरव्यू दोनों में पास होना जरूरी है।

  1. लिखित परीक्षा (Written Exam)

    patwari पद के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले एक लिखित परीक्षा देनी होती है। यह लिखित परीक्षा 100 अंकों की होती है। इस परीक्षा में पूछे जाने वाले questions multiple choice questions होते हैं।

    इस एग्जाम में किसी भी प्रश्न का गलत आंसर देने पर minus marking की जाती है। इस exam paper को हल करने के लिए विद्यार्थी को 90 minutes का समय मिलता है।

    patwari पद के लिए होने वाले इस लिखित एग्जाम का syllabus जिसमें सामान्य ज्ञान, मात्रात्मक क्षमता, हिंदी भाषा, अंग्रेजी, पंचायत प्रणाली, ग्राम अर्थव्यवस्था और computer साथ ही साथ साधारण गणित और सामान्य विज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

    जिन विद्यार्थियों का पटवारी की written exam में चयन हो जाता है। उसके पश्चात इस पद को हासिल करने के लिए एक interview exam और देना होता है।
written exam-patwari banne kelia
  1. Interview (Face to Face Interview)

patwari पद के लिए विद्यार्थियों को लिखित परीक्षा पास करने के पश्चात interview exam देना होता है। लिखित परीक्षा में पास होने वाले विद्यार्थियों को ही interview के लिए बुलाया जाता है।

interview में सफल होने के पश्चात विद्यार्थी को पटवारी पद के लिए चयनित किया जाता है और विद्यार्थी को training से गुजारा जाता है।

यदि व्यक्ति ट्रेनिंग में पास हो जाता है। तो आवेदन कर्ता को joining letter दे दिया जाता है।
इस प्रकार से विद्यार्थी आसानी के पटवारी बन सकता है।

हालांकि आज के समय का competition देखा जाए तो कोई भी सरकारी नौकरी हासिल करना मुश्किल है। लेकिन अगर व्यक्ति निश्चित तौर पर लगातार तैयारी करें तो आसानी से पटवारी की नौकरी हासिल कर सकता है।

patwari भर्ती परीक्षा की तैयारी करने के लिए विद्यार्थी को एक समय सारणी बनाकर हर विषय के लिए एक निश्चित समय तय करना होगा और निश्चित समय में हर विषय की बेहतर तरीके से तैयारी करनी जरूरी है। तब जाकर विद्यार्थी इस पद को हासिल कर पाएगा।

interview for patwari selection

निष्कर्ष

patwari एक सरकारी पद है और इस पद को कैसे हासिल किया जाता है। इसका जिक्र आज के इस का article में मैंने किया है। उम्मीद करता हूं, यह article पूरा पढ़ने के बाद आपको पटवारी कैसे बने इसके बारे में संपूर्ण जानकारी मिली होगी।

यदि आपको इस article से संबंधित कोई भी सवाल है। तो आ comment box के जरिए हमसे पूछ सकते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *