What is Bounce Rate and How to Reduce it in hindi

What is Bounce Rate and How to Reduce it ? (हिंदी में)

Blog बनाने का मकसद चाहे जो भी हो पर हर एक serious blogger यही चाहता है की उसके visitors उसके blog पर रोज़ आये , उसके लिखे हर post को ध्यान से पढ़े और ज्यादा से ज्यादा देर तक उसके blog पर टिका रहे . कहने का मतलब Bounce Rate कम हो .. तो चलिए जान लेते है | What is Bounce Rate and How to Reduce it ? (हिंदी में)

अगर आप नये blogger है और आप भी चाहते है की visitor आपके blog/website पर ज्यादा टाइम तक busy रहे तो समझ लीजिए की साइट के Bounce Rate को चेक करने का टाइम आ गया है .

Bounce Rate, Google Ranking Factor है जो बहुत जरुरी है posts को google में rank करने के लिए ..

Bounce rate को reduce करने से पहले आपको जरुरत है Bounce Rate क्या है वो समझने की . तो चलिए पहले जान लेते है | Bounce Rate क्या है or कैसे काम करता है .

What is bounce rate ?

आपके blog par रोज़ ही नए नए visitors आते होंगे कुछ google results से कुछ social media से to कुछ referral links से पर उनमे से कुछ ही visitors होते है जो की आपके blog पर ज्यादा टाइम तक रुकते हैं या वापस कभी आपकी साइट को ओपन करते है .

kahan se traffic araha hai

Bounce Rate उन visitors का percentage होता है जो की आप के blog पर आते तो है पर बिना किसी पेज पर क्लिक किये वह आप की साइट से तुरंत ही लौट भी जाते हैं .

मतलब की visitor आये और तुरंत चले गए इसी को Bounce rate कहते है , ये जितना ज्यादा होगा मतलब उतने ही ज्यादा लोग site से तुरंत लोट रहे है और वो एक website owner के लिए उतना ही ख़राब है .

इसके बहुत सारे कारण हो सकते है . तो बस यह समझ लीजिये की आपकी साइट के लिए बेहतर यही होगा की उसका bounce rate कम ही हो , जितना हो सके उतना अच्छा है .।

Top reasons for high bounce rate

  • Website की Design अच्छा ना होना
  • Website Loading Time ज्यादा होना
  • Design Responsive ना होना
  • कम Powerful Content
  • Content की कमी
  • अच्छा Content न होना

How to unearth the Bounce rate?

Google analytic google का एक ऐसा product है जिसका इस्तेमाल कर के हम आसानी से आपने users के बारे में पता लगा सकते है , की किस country से कितने visitors आ रहे , कितने page-views हो रहे है or कितना bounce rate हो रहा है .

website ka bounce rate

इसके साथ कितना समय तक visitor किस पेज पर रुक रहे है जैसी बहुत सी जानकारी . और मुझे लगता है की हर blogger को Google के इस product का इस्तेमाल ज़रूर करना चाहिए .

जैसे की मैंने बताया है की Google Analytics का इस्तेमाल कर के आप bounce rate को पता कर सकते है , तो आपको चाहिए की आप अपने google analytics account पर login हो जाये .

Google Analytics में Reporting पर जा कर site content>All pages पर जाना है , पूरी जानकारी आपके सामने होगी . आप देख पाएंगे की visitors का कितना percent आपके blog से bounce यानि की लौट जा रहा है .

sab pages ka bounce rate check kare

How Much boucne rate should be ?

अगर site का Bounce Rate 35% से ज्यादा है तो आपको थोड़ा serious होने की जरुरत है क्युकी आपके traffic किसी न किसी वजह से आपकी site पर आ कर लौट जा रहा है जो की बिलकुल भी अछि बात नहीं है .

अगर Bounce Rate 50% से भी ज्यादा है तो ये घबराने वाली बात है और आपको इसे तुरंत सही करने में लग जाना चाहिए .

Visitor को लाने में जितनी महेनत लगती है site पर , और अगर वो site पर रुके ही नहीं तो हमारी महेनत बेकार. इसलिए जितनी महेनत आप site पर ज्यादा से ज्यादा visitor लेन में करते है उतनी ही visitor को साइट पर बनाये रखने में भी करे .

Methods to Reduce Bounce Rate ??

1st Method :- Website का डिज़ाइन अच्छा होना चाहिए

आपके readers designers नहीं है फिर भी उनको अचे और बुरे web design का पूरा ज्ञान है.

अगर आपका web design अच्छा और user friendly नहीं है , आँखों में चुभने वाले रंग का इस्तेमाल किया गया है या फिर पूरी साइट पर animation चल रही हो तोह इसे बदल ले. Simple design भी अछि रहेगी अगर आपको ज्यादा web designing के बारे में ज्ञान नहीं तो|

2nd Method :- बहुत अच्छा Content

ऐसा content लिखें जिसमे अछि जानकारी हो और visitors को जो attract कर पाए . जो Visitor को चाइये वो ही उसको मिले ।

3rd Method :- Multimedia का इस्तेमाल

अपनी site को मजेदार बनाने के लिए photo, gifs, audio aur videos का इस्तेमाल करे और आज कल तोह infographics भी इस्तेमाल कर सकते हैं |

4th Method :- Loading Time कम करे

Loading time बहुत ही जरुरी है bounce rate कम करने के लिए , क्यू की कोई भी wait करना पसंद नहीं करते , अगर साइट जल्दी लोड नहीं होगी तो वो उसको बंद कर देंगे .

इसलिए इस बात का ख्याल रखे website fast load हो , और आप उसमे जो Images का इस्तेमाल करते है वो लिमिट में करे . Image का साइज कम करके ही upload करे .

5th Method :- ज़्यादा शब्दों का Article लिखें

लम्बा post लिखे पर धयान रहे पैराग्राफ छोटे ही हो . ज्यादा बढ़ा आर्टिकल पढ़ना किसी को नहीं पसंद है आप उसे छोटा करके लिखे ताकि दुश्रों को पढ़ने में अच्छा लगेगा और आपके visitors भी आसानी से पढ़ लेंगे . आपका article 600-700 words का होना चाहिए .

पर ये जरुरी नहीं की article छोटा हो .. कहने का मतलब है Article जितना लम्बा लिख सकते हो लिखो .. पर पुरे artice के information ऐसी होनी चाइये जिसको लोग पढ़े . फालतू का कुछ भी लिखने से अपना टाइम बर्बाद होगा लेकिन कुछ फ़ायदा नहीं होगा .

में आशा करता हूँ की जो भी मानिने बताया आपको अच्छे तरीके से समझ आग्या होगा
धन्यवाद.

This Article Has 1 Comment
  1. vasim khan Reply

    i really like this post keep it up.thanks for this nice post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *